Treatment of diseases from the navel

Naval ( नाभि)

नाभि शरीर का सबसे छोटा किंतु बहुत जरूरी अंग है इसमेंहमारे स्वास्थ्य और सुंदरता से जुड़े कई राज छुपे है। यहां शरीर का केंद्र बिंदु है। शरीर के तकरीबन 72000 रक्त धमनियां जुड़ी होती है। स्वास्थ्य संबंधी कोई भी समस्या होने का असर इन धमनियों पर पड़ता है यह धमनियां सिकुड़ने लगती है और इसमें रक्त प्रभाव कम हो जाता है।कुछ समस्याओं को हम नाभि के जरिए सही कर सकते हैं ।

निम्न प्रकार जैसे :–

1. चेहरे के लिए :– चेहरे पर पिंपल्स या मुंहासे होने पर नाभि में नीम का तेल लगाना चाहिए।चेहरे में चमक के लिए नाभि में बादाम का तेल लगाना चाहिए। यह झुर्रियां को हटाने व पहुंचा को कोमल बनाने में भी मदद करता है। चेहरे को मुलायम बनाने के लिए देसी गाय का घी लगाना चाहिए। दाग धब्बों के लिए नींबू का तेल लगाना चाहिए। और बादाम का तेल लगाने से शरीर में कसाव और झूरड़ियां को हटाने में काफी मदद मिलता है।

2. स्किन के लिए :– हाथ पैर की त्वचा को कोमल बनाने के लिए नारियल का तेल लगाना चाहिए काफी फायदा मिलता है।

त्वचा में खुजली हो या शरीर में चकत्ते दाग हो तो नाभि में नीम का तेल लगाना चाहिए। पिगमेंटेशन होने पर रात को नाभि पर नींबू का तेल लगाना चाहिए। होंठ फटने या होंठ के काले होने पर सरसों का तेल नाभि में लगाना चाहिए।

3. बालों के लिए :– लंबे और खूबसूरत बाल पाने है तो नाभि में सरसों का तेल लगाएं इससे बाल मजबूत और लंबा होगा। सफेद बालों से छुटकारा पाना है तो नाभि में नारियल का तेल लगाएं और बालों में डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए भी नारियल का तेल नाभि में लगाएं।

4. पाचन के लिए :– नाभि में ऑलिव आयल लगाने से पाचन तंत्र ठीक रहता है जैसे,

गैस्ट्रिक की समस्या, पेट दर्द, दस्त, कब्ज जैसे पेट संबंधी परेशानी में नाभि में सरसों का तेल लगाने से आराम मिलता है।

नाभि से जुड़ी इन बातों का अगर हम ख्याल रखें तो हम अपने शरीर को स्वस्थ और परेशानी से बच सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *