Personal interview and discussion

Personal interview and group discussion

हर साल बड़ी संख्या में छात्र स्नातक के बाद मैनेजमेंट पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने के लिए आवेदन करते हैं। आईआईएएम समय देश के प्रतिष्ठित बी-स्कूलों में प्रवेश के लिए बड़ी संख्या में छात्र कैट और अन्य परीक्षाओं में शामिल होते हैं। प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद अगली बाधा ग्रुप डिस्कशन और पर्सनल इंटरव्यू की होती है। जहां आप के व्यवहारिक ज्ञान की परख की जाती है। साथ ही अपने व्यक्तिगत को जांचा जाता है। अगर आप आई आई एम या सिर्फ बी-स्कूल में प्रवेश करने की तैयारी कर रहे हैं।तो इस कठिन चरण से गुजरने के लिए तैयार हो जाएं। दरअसल इन परीक्षाओं के माध्यम से बी- स्कूल छात्र के आत्म विश्वास, देश-दुनिया से ताजा घटनाक्रम पर उनका नजरिया, लक्ष्य को लेकर स्पष्टता और छात्र के उद्देश्य को जानना चाहते हैं। संस्थान डब्ल्यूएटी और पर्सनल इंटरव्यू के माध्यम से बेहतर छात्रों का चयन करते हैं।

 

करेंट अफेयर्स पर बनाएं मजबूत पकड़

 

अध्ययन की आदत ना केवल परीक्षा में आपकी सफलता की संभावना को मजबूत करेगी,बल्कि जीवन में लगातार आगे बढ़ते रहने में मददगार दी होगी। रोजाना अगर आप स्तरीय पत्र-पत्रिकाओं को पढ़ते हैं तो आप देश दुनिया में चल रहे घटनाक्रमों पर एक स्वतंत्र दृष्टिकोण विकसित कर पाएंगे।अखबारों के संपादकीय और परिशिष्ठ पढ़ने से आपको विशेषज्ञो के मत जानने का मौका मिलता है।एक संतुलित नजर यह से आप किसी विशेष के विविध पक्षों को जान और समझ सकेंगे ।सामान्य तौर पर जीडी और डब्ल्यूएटी के दौरान जनरल अवेयरनेस से संबंधित प्रश्न होता है।सीधे तौर पर करेंट अफेयर्स से होने वाले प्रश्नों को निहितार्थ को समझना आवश्यक है। साथ ही जानकारी रखने के बजाय और उससे संबंधित अन्य पक्षों को भी जानने की कोशिश करना चाहिए।

 

प्रैक्टिस है जरूरी

 

इससे राइटिंग रिटेन एबिलिटी टेस्ट में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए नियमित अभ्यास जरूरी है। किसी टॉपिक पर अखबारों में आने वाले लेखों को पढ़ें। इसे आप यह समझ पाएंगे की उपलब्धता के आधार पर किस प्रकार तार्किक निष्कर्ष निकाला जाता है? एक बेहतरीन लेख का यह गुण होता है कि वह किसी टॉपिक पर लेखन करते समय विभिन्न बिंदुओं के बाद एक विश्लेषण करता है। सामाजिक मुद्दों पर आने वाले लेखों में कई अहम जानकारी होती है। जो परीक्षा के समय काम आ सकती है।

 

नेतृत्व क्षमता बढ़ाने पर जोर

 

मैनेजमेंट पेशावर के टीम लीडर के तौर पर कार्य करने की अपेक्षा की जाती है। यह काम आप तभी कर सकते हैं।जब आपके पास अपने क्षेत्र की पर्याप्त जानकारी हो और सामंजस्य के साथ कड़ी मेहनत करने की क्षमता हो। ऐसे में जरूरी है कि आप तैयारी के साथ अपने व्यक्तित्व विकास पर भी ध्यान केंद्रित करें।इंटरव्यू के दौरान छात्र की सामान्य समझ, आत्मविश्वास और उनकी क्षमताओं को जांचा जाता है।

 

लक्ष्य को लेकर अस्पष्टता

 

आमतौर पर इंटरव्यू के दौरान आपके भविष्य की योजनाओं से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। आप एमबीए या मैनेजमेंट से जुड़े कोर्स क्यों करना चाहते हैं? इसका तो ठोस जवाब आपके पास होना चाहिए। साथ ही आपके फ्यूचर प्लान को भी रखे। मैनेजमेंट करियर से जुड़े अन्य सवालों के लिए तैयार रहें।अगर आप सुनियोजित ढंग से तैयार नहीं है तो इंटरव्यू का सामना करते समय आप फंस सकते हैं। आपके मजबूत पक्ष और कमजोर पक्ष से जुड़े सवाल हो सकते हैं। ऐसे सवालों का जवाब देते समय ईमानदारी बरतें क्योंकि बातों को घुमाने पर आप सवालों के जाल में घिर सकते हैं। इसलिए अस्पष्टता बहुत आवश्यक है।

 

इन बातों का भी रखें ध्यान

 

1. नए टॉपिक से अपडेट रहें। जनरल अवेयरनेस की तैयारी पर फोकस बनायें रखें।

2. अपना दृष्टिकोण बिल्कुल स्पष्ट रखें। किसी भी टॉपिक को लेकर असमंजस में ना फंसे।

3. इंटरव्यू का सामना करते समय घबराए नहीं शांति स्थिर और आशावादी हो गई जवाब दें।

4. मॉक इंटरव्यू दे और प्रत्येक इंटरव्यू के बाद कमजोर पक्ष का मूल्यांकन करें और उसे सुधारे।

 

 

नोट:— इन सारी बातों का निचोड़ यह है कि हमें तैयारी के साथ साथ पर्सनल इंटरव्यू और ग्रुप डिस्कशन भी करना चाहिए। ताकि हम इंटरव्यू में फंसे नहीं और बिंदास जवाब दे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *