medical termination of pregnancy

Medical termination of pregnancy
Introduction :- भ्रूण की खराबी होने अंचहे गर्भ से छुटकरा पाने हेतु गर्भपात प्रति वर्ष 45-50 वर्ष मिलियन लोग दुनिया में करते है।
-:M T P act 1971 ई० में लागू हुआ।
Definition :- जनन स्वास्थ्य का वह भाग जिसमे अंचहे गर्भ को अपने अनुसार हटाया जाता है M T P कहा जाता है।
– M T P गर्भपात के 12 सप्ताह तक सुरक्षित है।
– M T P क्यो जरूरी है ?
M T P कई प्रकार के परिस्थिती में संभव है :-
1- भ्रूण में गुणसूत्रीय वीकर होने पर
2- गर्भ निरोधन के असफल होने पर
3- बलत्कार होने पर
M T P के फायदे :-
1- जन्म नियंत्रन का तरीका
2- अंचहे और दोषपूर्ण गर्भ से छुटकार
M T P के दुरूपयोग :-
1- अनैतिकता को बढ़वा
2- जनन सुवास्तथ के खराबी
उल्लेधन क्या है ?
वह विधि जिसमे एमनियोटिक द्रव को सुई से निकाल कर भ्रूण का परीक्षण किया जाता है उल्लेधन कहलाता है।
एमनियोटिक द्रव में फीटल कोशिका प्रोटीन और अंजाईन होता है। फीटल कोशिका के द्वारा भ्रूण का लिंग और विकार का पता लगाया जाता है।
X X – G
X Y-B
योनी सनचारित रोग( Sexually transmitted disease)
S T D
परिचय :- S T D जनन सुवास्तथ का विषय है। जो यौन अंग मे संक्रमण के कारण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है।
Definition :- जनन शरीिर का वह भाग जिसमे असुरक्षित यौन संबंध के द्वारा संचरण होता है S T D कहलाता है।
S T D के नाम
1. AIDS
2. GONORRHEA
3. HEPATITIS-B
4. HERPES
5. SYPHILIS

S T D के कारण :-
1॰ असुरक्षित यौन संबंध के कारण
2॰ जनन अंग की उचित साफ सफाई पर ध्यान नही देना।
STD के लक्षण :-
1॰ मुत्र मार्ग में खुजलाहट
2॰ संक्रमित अंग से मथूकस (पानी युक्त का सत्राव)
3॰ संक्रमण सथल का दर्द होना।
बंध यता ( Infertility)
Infertility के कारण :-

1- शारीरिक
2- जन्म जात
3- औषधीय कारण
4- प्रति रक्षात्मक
नर में बंध यता के कारण :-
1- शुक्राणु की संख्या में कमी
2- वीर्य ( semen) में शुक्राणु का अनुपस्थित
मादा में Infertility के कारण
1 – अंडोत्सर्ग का न होना
2 – अंडोत्सर्ग के दौरान अंडाणु में कमी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *