Breast cancer

Breast cancer

 

कैंसर एक जानलेवा रोग है जिसका सटीक कारण अब तक पता नहीं चल पाया।

कोई यह भी नहीं कह सकता कि उसे कैंसर हो सकता है और उसे नहीं होगा।

आज शरीर के हर एक भाग में कैंसर होने का खतरा हो गया है। महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर और ओवरी कैंसर सबसे अधिक देखा जाता है।

 

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के मुताबिक 2016 में कैंसर के 14 लाख मामले देखे गए थे । इस संख्या में हर साल बढ़ोतरी हो रही है देश में 30 से 50 वर्ष की महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का काफी अधिक मामला देखने को मिल रहा है।दुख की बात यह है कि भारत में ब्रेस्ट कैंसर का सर्वाइवल रेट बहुत निराशाजनक है।

 

 

शहरी इलाकों की जीवनशैली

 

शहरी परिवेश की भागदौड़ भरी जिंदगी में महिला और पुरुष दोनों का ही तमाम तरह से व्यस्त नजर आते हैं । इसी व्यस्त वाली जिंदगी के कारण अपने स्वास्थ्य पर ध्यान ना देना, खानपान की वजह से हार्मोन असंतुलन होना शरीरिक समस्याओं के कारण बनता है।

अक्सर देखा गया है कि महिलाएं ब्रेस्ट में नजर आने वाली गांठ को ऐसे ही नजरअंदाज कर देती है। जो बाद में कैंसर का रूप लेकर जानलेवा साबित हो जाता है।

 

शुरुआती अवस्था में उपचार संभव

 

स्तन कैंसर का शुरुआती दो अवस्था में उपचार संभव है। पहला स्टेज में डॉक्टर कुछ दवा दे सकते हैं। वहीं दूसरे से चौथी स्टेज के लिए सर्जरी के साथ कीमोथेरेपी और एडियेशन थेरेपी की जरूरत होती है।

रेडिएशन थेरेपी ना कराने से कैंसर फिर से होने की आशंका 25 ℅ तक बढ़ जाती है। इसलिए सर्जरी के बाद रेडियो थैरेपी दी जाती है ताकि सर्जरी के बाद बचे हुए कैंसर कोशिकाओं और उसके आसपास से प्रभावित कोशिकाओं को नष्ट कर दोबारा कैंसर की आशंका को खत्म किया जा सके।

 

कीमोथेरेपी

 

कैंसर अगर दोबारा हो तो कीमोथेरेपी की जरूरत होती है।कीमोथेरेपी को हार्मोनल कीमोथेरेपी भी कहते हैं ।

जब जांच में कैंसर के एस्ट्रोजेन रिसेप्टर पॉजिटिव हो तो यह थेरेपी में दी जाती है।

इसके अलावा कुछ हार्मोन संतुलन के लिए भी दवाई दी जाती है जो शरीर में एस्ट्रोजेन लेवल को संतुलित कर सके।

 

जागरूकता और तुरंत इलाज से बच सकती है जान 

 

कैंसर को रोक पाना संभव नहीं या किसको होगा किसको नहीं यह पहचाना बहुत मुश्किल है पर जो संभव है वह है जागरूकता।

जिससे इसकी तुरंत पहचान हो सके ताकि शुरुआती अवस्था में इसका इलाज कर इसे जड़ से ठीक किया जा सके।

कुछ गलत सेवन जैसे शराब और सिगरेट का अधिक सेवन इसको बढ़ावा दे सकता है या देता भी है।

इस तरह के सेवन से हमेशा हम सब को दूर रहना चाहिए। जो कैंसर का कारण बन सकता है।

जब भी महिलाए स्नान करने जाए तो सप्ताह में एक बार जरूर अपने स्तनों को गोलाकार अवस्था में ऊपर से नीचे नीचे से ऊपर की ओर छूकर देखें कि स्तन में कोई गांठ या सूजन तो नहीं है।

ब्रेस्ट कैंसर की सबसे बड़ी पहचान यही है।

और जरा सा भी शक हो तो तुरंत डॉक्टर से मिलें। ताकि कैंसर जैसे खतरनाक बीमारी से बचा जा सकें।

नोट:- छोटी से छोटी बड़ी से बड़ी बीमारियों के होने का बस एक ही कारण है। हमारे जीवन यापन में बदलाव।

 

14 Comments on “Breast cancer”

  1. I would like to show my gratitude for your kindness giving support to men and women who require assistance with this one issue. Your real dedication to passing the solution all over was pretty helpful and have continually made others much like me to reach their desired goals. Your invaluable guide means much to me and extremely more to my mates. Warm regards; from everyone of us.

  2. Wonderful blog! I found it while searching on Yahoo News. Do you have any suggestions on how to get listed in Yahoo News? I’ve been trying for a while but I never seem to get there! Cheers|

  3. I am also commenting to let you understand what a great discovery our daughter had checking your webblog. She figured out plenty of details, not to mention what it’s like to possess a marvelous helping style to make most people completely thoroughly grasp some hard to do topics. You really did more than people’s expected results. Thanks for delivering the valuable, trustworthy, revealing and easy tips about this topic to Janet.

  4. Admiring the time and energy you put into your site and in depth information you offer. It’s good to come across a blog every once in a while that isn’t the same unwanted rehashed material. Fantastic read! I’ve saved your site and I’m adding your RSS feeds to my Google account.|

  5. Woah! I’m really digging the template/theme of this site. It’s simple, yet effective. A lot of times it’s very hard to get that “perfect balance” between user friendliness and visual appearance. I must say you have done a fantastic job with this. Also, the blog loads extremely fast for me on Internet explorer. Superb Blog!|

  6. I precisely desired to say thanks once again. I am not sure the things that I could possibly have gone through without the suggestions discussed by you relating to that problem. It previously was the distressing situation for me personally, however , understanding the very specialized fashion you solved the issue forced me to jump with contentment. I’m grateful for your work and even expect you know what a powerful job that you’re undertaking educating some other people thru your webpage. More than likely you have never got to know all of us.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *